surya namaskar mantra सूर्य नमस्कार मंत्र|12 step सूर्य नमस्कार कैसे करे

surya namaskar mantra| सूर्य नमस्कार : सूर्य नमस्कार योगासन की कुछ मुद्राओं का मिश्रण है। सूर्य नमस्कार आपके शारीरिक चक्र और सौर के बीच इस संबंध को बनाने में मदद करता है।

सूर्य नमस्कार मंत्र हिंदी में एक आंदोलन है जो सौर को प्रदान किया जाता है। यह धर्मग्रंथों के भीतर दी गई प्रार्थना और पूजा की एक शानदार आम दिनचर्या है।

सूर्य नमस्कार सुबह से पहले किया जाना है। दिन के समय पूर्व के साथ खड़े रहें और भगवान सूर्य की कामना करने के लिए मंत्रों का पाठ करें और पानी के साथ चंदन, फूल, चावल के दाने या सिर्फ जल चढ़ाएं और चढ़ाएं।

हमारे ऐतिहासिक द्रष्टाओं ने इस बात को स्वीकार किया और सौर का सम्मान किया। सूर्य नमस्कार मंत्र हिंदी में बारह योग मुद्राओं या आसनों को दर्शाता है जो सौर चक्रों को दर्शाता है जो लगभग बारह और 1/4 साल तक चलते हैं।

सूर्य नमस्कार मंत्र के कई लाभ हैं जिनमें से अधिकांश मैंने नीचे सूचीबद्ध किए हैं। यदि आपका सिस्टम एनेलेटेड है, तो आपका चक्र फोटोवोल्टिक चक्र के साथ समवर्ती होगा।

सूर्य नमस्कार मंत्रों के साथ सूर्य नमस्कार मंत्र के रूप में जाना जाता है। ये मंत्र काया, श्वास और विचारों में समरूपता रखते हैं। 12 मंत्र हैं जो सौर भगवान के पूरी तरह से अलग नाम हैं।

surya namaskar mantra सूर्य नमस्कार मंत्र

  • 1. om Mitraya Namah
  • 2.  om Ravayre Namah
  • 3.  om Suryaya Namah
  • 4.  om Bhanave Namah
  • 5.  om Khagaya Namah
  • 6.  om Pushne Namah
  • 7.  om Hiranyagarbhaya Namah
  • 8.  om Marichaye Namah
  • 9.  om Adityaya Namah
  • 10. om Savitre Namah
  • 11. om Arkaya Namah
  • 12. om Bhaskaraya Namah

surya namaskar mantra सूर्य नमस्कार मंत्र के बारे में जाना आइये जानते है |सूर्य नमस्कार कैसे करते है step-by-step…..

सूर्य नमस्कार कैसे करे?(surya namaskar mantra)|surya namaskar benefits

सूर्य नमस्कार या सूर्य नमस्कार 12 शक्तिशाली योग बन गया है। एक महान कार्डियोवस्कुलर कसरत होने के अलावा, सूर्य नमस्कार का शरीर और दिमाग पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

सूर्य नमस्कार सबसे पहले सुबह खाली पेट किया जाता है। सूर्य नमस्कार के प्रत्येक दौर में दो सेट होते हैं, और प्रत्येक सेट 12 योग पोज़ से बना होता है। आपको सूर्य नमस्कार का अभ्यास करने के तरीके के कई संस्करण मिल सकते हैं।

surya namaskar mantra
surya namaskar mantra

हालांकि, एक विशेष संस्करण से चिपकना और सर्वोत्तम परिणामों के लिए नियमित रूप से अभ्यास करना उचित है। अच्छे स्वास्थ्य के अलावा, सूर्य नमस्कार इस ग्रह पर जीवन को बनाए रखने के लिए सूर्य का आभार व्यक्त करने का अवसर भी प्रदान करता है।

surya namaskar steps|surya namaskar poses name|surya namaskar in hindi|surya namaskar steps in hindi

Pranamasana

अपनी चटाई के किनारे पर खड़े हों, अपने पैरों को एक साथ रखें और अपने वजन को दोनों पैरों पर समान रूप से संतुलित करें। अपनी छाती का विस्तार करें और अपने कंधों को आराम दें। जैसे ही आप सांस लेते हैं, दोनों भुजाओं को दोनों तरफ से ऊपर उठाएं, और साँस छोड़ते हुए, अपनी हथेलियों को प्रार्थना की स्थिति में छाती के सामने एक साथ लाएँ।

Pranamasana
Pranamasana

Hastauttanasana

सांस लेते हुए, बाजुओं को कान के पास रखते हुए, पीठ को ऊपर और पीछे उठाएं। इस मुद्रा में, पूरे शरीर को एड़ी से उंगलियों की युक्तियों तक खींचने का प्रयास किया जाता है।

इस योग को करने के लिए टिप:

आप श्रोणि को थोड़ा आगे बढ़ा सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप पीछे की ओर झुकने की कोशिश करने के बजाय उंगलियों के साथ ऊपर पहुंच रहे हैं।

Hastauttanasana
Hastauttanasana

Hastapadasana

श्वास बाहर निकालते हुए, रीढ़ को सीधा रखते हुए कमर से आगे की ओर झुकें। जैसे ही आप पूरी तरह से साँस छोड़ते हैं, हाथों को पैरों के बगल से नीचे लाएँ।

यदि आवश्यक हो तो हथेलियों को फर्श पर लाने के लिए घुटनों को मोड़ सकते हैं। अब घुटनों को सीधा करने के लिए सौम्य प्रयास करें। इस स्थिति में हाथों को स्थिर रखना और जब तक हम अनुक्रम को पूरा नहीं कर लेते, तब तक उन्हें आगे नहीं बढ़ाना एक अच्छा विचार है।

Hastapadasana
Hastapadasana

Also Read : jobs-for-excel-skill-users-in-hindi

Ashwa Sanchalanasana

साँस लेते हुए, अपने दाहिने पैर को पीछे की ओर धकेलें, जहाँ तक संभव हो। दाहिने घुटने को फर्श पर लाएं और ऊपर देखें।

टिप: इस योग खिंचाव को कैसे गहरा करें? सुनिश्चित करें कि बाएं पैर हथेलियों के बीच में है।

Ashwa Sanchalanasana
Ashwa Sanchalanasana

Dandasana

जैसे ही आप सांस लें, बाएं पैर को पीछे ले जाएं और पूरे शरीर को एक सीध में लाएं। इस योग को गहरा करने के लिए

टिप: अपनी बाहों को फर्श से सीधा रखें।

Dandasana
Dandasana

Ashtanga Namaskara

धीरे से अपने घुटनों को फर्श पर ले आएं और साँस छोड़ें। कूल्हों को थोड़ा पीछे ले जाएं, आगे स्लाइड करें, अपनी छाती और ठोड़ी को फर्श पर टिकाएं। अपने पोस्चर को थोड़ा बढ़ाएं। दो हाथ, दो पैर, दो घुटने, छाती और ठुड्डी (शरीर के आठ भाग) फर्श को छूना चाहिए।

Ashtanga Namaskara
Ashtanga Namaskara

Bhujangasana

आगे स्लाइड करें और कोबरा मुद्रा में छाती को ऊपर उठाएं। आप अपनी कोहनी को कानों से दूर कंधे के साथ इस मुद्रा में रख सकते हैं। छत पर देखो।

इस योग को करने के लिए टिप:

जैसे ही आप साँस लेते हैं, छाती को आगे बढ़ाने के लिए एक कोमल प्रयास करें; जैसा कि आप साँस छोड़ते हैं, नाभि को नीचे धकेलने का एक कोमल प्रयास करें। पैर की उंगलियों को दबाएं। सुनिश्चित करें कि आप बस उतना ही खींच रहे हैं जितना आप कर सकते हैं और अपने शरीर को मजबूर नहीं कर सकते हैं।

Bhujangasana
Bhujangasana|surya namaskar mantra

Adho Mukha Svanasana

साँस छोड़ते हुए, शरीर को एक उल्टे ’V’ मुद्रा में लाने के लिए कूल्हों और टेलबोन को ऊपर उठाएँ।

इस योग को करने के लिए टिप: यदि संभव हो, तो एड़ी को ज़मीन पर रखने की कोशिश करें और टेलबोन को ऊपर उठाने का एक सौम्य प्रयास करें, जिससे गहराई में खिंचाव हो

Adho Mukha Svanasana
Adho Mukha Svanasana|surya namaskar mantra

Ashwa Sanchalanasana

सांस लेते हुए, दाहिने पैर को दोनों हाथों के बीच में लाएं। बायाँ घुटना फर्श पर टिका होता है। कूल्हों को दबाएं और लुकअप करें।

इस योग को करने के लिए टिप: दाहिने पैर को दोनों हाथों के बीच और दाहिने बछड़े को फर्श से सीधा रखें। इस स्थिति में, खिंचाव को गहरा करने के लिए, कूल्हों को फर्श की ओर धकेलने का एक कोमल प्रयास करें।

Ashwa Sanchalanasana
Ashwa Sanchalanasana|surya namaskar mantra

Hastapadasana

वास छोड़ते हुए, बाएं पैर को आगे लाएं। हथेलियों को ज़मीन पर रखें। यदि आवश्यक हो, तो आप घुटनों को मोड़ सकते हैं।

इस योग को करने के लिए टिप: धीरे से घुटनों को सीधा करें, और यदि आप कर सकते हैं, तो कोशिश करें और अपनी नाक को घुटनों तक स्पर्श करें। सांस लेते रहो।

Hastapadasana
Hastapadasana|surya namaskar mantra

Hastauttanasana

वास अंदर लें, रीढ़ को रोल करें। हाथों को ऊपर उठाएं और कूल्हों को थोड़ा बाहर की ओर धकेलते हुए थोड़ा पीछे की ओर झुकें।

इस योग को करने के लिए टिप: सुनिश्चित करें कि आपके बाइसेप्स आपके कानों के पास हों। विचार यह है कि पिछड़ों को फैलाने के बजाय और अधिक बढ़ाया जाए।

Hastauttanasana
Hastauttanasana|surya namaskar mantra

Tadasana

जैसे ही आप साँस छोड़ते हैं, पहले शरीर को सीधा करें, फिर हाथों को नीचे लाएँ। इस स्थिति में आराम करें और अपने शरीर में संवेदनाओं का निरीक्षण करें।

Tadasana

Conclusion: surya namaskar mantra सूर्य नमस्कार मंत्र|सूर्य नमस्कार कैसे करे

उम्मीद है हमारे द्वारा दी हुई जानकारी surya namaskar mantra सूर्य नमस्कार मंत्र|सूर्य नमस्कार कैसे करे के बारे में आपको बहुत अच्छी लगी होगी अगर कुछ और आप सीखना यह जानना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं या फिर हमारे सोशल मीडिया पर आप जुड़ सकते हैं।

surya namaskar mantra सूर्य नमस्कार मंत्र|सूर्य नमस्कार कैसे करे पोस्ट दोस्तों के साथ जरुर share करे|

अगर आपको Social networking sites and हमारे Social Media जैसे facebook , pinterest , linkedin , quora और HindiVidyalaya के साथ जुड़े रहे।

Thank you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *