Skip to toolbar

mars in hindi|mars planet in hindi|mars information in hindi

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

mars in hindi : mars या मंगल ग्रह ब्रह्मांड का एक ग्रह है| स्थान के मामले में चौथे नंबर पर आता है| और अगर साइज की बात करें तो दूसरा सबसे छोटा ग्रह|मंगल ग्रह का खोज गैलीलियो ने अपने टेलिस्कोप से किया था| 

mars in hindi
mars in hindi

हमारे ब्रह्मांड में मुख्यतः दो प्रकार के पाए जाते हैं स्थलीय ग्रह और गैसीय ग्रह|  स्थलीय ग्रह का मतलब होता है जैसे कि पृथ्वी के जैसा ग्रह ग्रह का मतलब होता है जहां पर  ज्यादातर मात्रा में गैस पाई जाती है|

मंगल ग्रह को लाल ग्रह के नाम से भी जाना जाता है इसका कारण यह है| किसी और का लाल दिखाई देता है क्योंकि वहां की स्थलीय धरातल लाल रंग का है| जिसका मुख्य कारण है आयरन ऑक्साइड जो मंगल की सतह पर काफी मात्रा में पाया जाता है जिसका किसका रंग लाल होता है | और यही सबसे मुख्य कारण है कि मंगल ग्रह किसी दूसरे ग्रह से जैसे कि पृथ्वी से लाल दिखाई देता है| 

mars in hindi |mars meaning in hindi|mars information in hindi

मंगल ग्रह का अंग्रेजी नाम  मार्ग  एक रोमन देवता के नाम पर रखा गया था| ब्रह्मांड में सबसे ऊंचा पर्वत मंगल ग्रह पर ही पाया जाता है जिसका नाम है ओलंपस मोन्स |शिखर लगभग 24 किलोमीटर ऊंचा है|

और सबसे बड़ी बात यह है कि मंगल ग्रह पर जीवन होने की संभावनाएं हैं काफी इंटरेस्टिंग फैक्ट और कई सारे अंतरिक्ष मिशन में इसके लिए रिसर्च भी चल रहा है|

पृथ्वी के दिन के अनुसार सूर्य की परिक्रमा करने में मंगलपुर 687 दिल लगाता है| 

mars की कुछ मुख्य बाते |mars in hindi

mars in hindi|mars meaning in hindi
mars in hindi
mars in hindi

सूर्य से काफी दूर होने के कारण मंगल ग्रह पृथ्वी से काफी  ठंडा है| मंगल ग्रह का तापमान औसतन माइनस 8 डिग्री सेल्सियस रहता है| मंगल ग्रह पर जाड़े के दिनों में औसतन तापमान -125 तक भी पहुंच सकता है| सबसे ज्यादा पाई जाने वाली गैस कार्बन डाइऑक्साइड है जो पृथ्वी के तुलना में लगभग 100 गुना ज्यादा घनी है|

मंगल ग्रह के वायुमंडल में विशालतम ज्वालामुखी जो पाई जाती है उसका नाम है ओलंपस मोना मोना जिसका रेडियस लगभग 300 किलोमीटर का है |इसके अलावा यहां कई अन्य प्रकार की भी ज्वालामुखी हैं| 

मंगल ग्रह का ज्योतिषीय महत्व|mars in hindi

mars in hindi|mars meaning in hindi

ज्योतिष में मंगल ग्रह का विशेष महत्व है इसे उर्जा का स्वामी माना जाता है यह मेष और वृश्चिक राशियों स्वामी माना जाता है| इसीलिए ग्राम के लोग बहुत तेज और पराक्रमी होते हैं| 

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कुंडली में मंगल ग्रह का सही स्थिति में न होना जैसे पहले, चौथे, सातवें व बारहवें में भाव में विराजने पर कुंडली में मांगलिक दोष का निर्माण होता है|

मंगल का सबसे ज्यादा प्रभाव जातक के शरीर पर पड़ता है अगर मंगल ग्रह की स्थिति सही नहीं हुई तो इसका गलत प्रभाव भी पड़ सकता है| जातक का मंगल धनी है बली है तो वह निर्णय लेने में तनिक भेज कर जाता है या देर नहीं  करता है| वह बहुत ही ऊर्जा वाला होता है और कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी पीछे नहीं हटता|

मंगल ग्रह शारीरिक ऊर्जा, क्रोध, आवेश, ताकतवर, अहंकार, आत्मविश्वास, साहसिक प्रवृत्ति का प्रतिनिधित्व करता है। यह रक्त, मांस पेशियों, अस्थिमज्जा पर शासन करता है। मांगलिक दोष होने के कारण मांगलिक दोष बनता है। इस कारण विवाह में देरी होती है और कई प्रकार की रुकावटें आती हैं।

mars intresting facts|mars in hindi

mars in hindi|mars meaning in hindi
mars in hindi
mars in hindi

हम जानते हैं कि पृथ्वी के लिए एक चंद्रमा होता है लेकिन मंगल ग्रह के लिए  दो चंद्रमा होता है  जिनका नाम है  हो बॉस और डेमोस|

जैसे पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाने में 24 घंटे लेती है उसी प्रकार मंगल ग्रह सूर्य का चक्कर लगाने में 24 घंटे 39 मिनट 35 सेकंड लेता है इसका मतलब यह हुआ कि मंगल ग्रह का 1 दिन 24 घंटा 39 मिनट 35 सेकंड का होता है|

पृथ्वी की सतह से मंगल ग्रह को आसानी से देखा जा सकता है बिना किसी टेलीस्कोप के | उसका मतलब यह है इसे नंगी आंखों से देखा जा सकता है |

मंगल ग्रह के बारे में सबसे इंटरेस्टिंग फैक्ट दिया है कि यहां कोई समुद्र या महासागर नहीं पाया जाता| 

 मंगल ग्रह पर अक्सर हैं धूल भारी तूफान उठते रहते हैं जो मंगल ग्रह को चारों तरफ से घेर लेते हैं| 

मंगल ग्रह का घनत्व पृथ्वी के घनत्व कितना में 100  गुना  कम है| 

मंगल ग्रह का व्यास पृथ्वी के व्यास के आधे से भी कम है यह बहुत इंटरेस्टिंग फैक्ट  है| 

मंगल ग्रह के बारे में जानने के लिए नासा ने 1960 से यहां पर अंतरिक्ष मिशन किया| उसी समय से पता चला कि  मंगल ग्रह बंजर  है| और वहां पर बंजर जमीन पाई जाती है|

मंगल ग्रह पर जीवन की खोज के लिए बहुत सारे अभियान किया गया है जिनमें से कुछ अभियान नासा ने किया है और कुछ अभियान भारत ने किया यदि आंकड़ों की बात करें तो 7 के आसपास अभीयान नासा ने किया है और एक अभियान भारत ने किया है| 

मंगल ग्रह के बारे में पता लगाने के लिए कमीशन में है क्या भेजा गया जिसका नाम था मेरियाना जिसमें लगभग 80 परसेंट  मंगल के सतह  का माफी करण किया | 

अगर दूरी की बात करें तो मंगल ग्रह की सूर्य से दूरी लगभग 142 मिलियन   मिल की है|

मंगल ग्रह द्वारा सूर्य की परिक्रमा की औसत गति 14.5 मील प्रति सेकंड के करीब है.|

मंगल ग्रह पर गैस की बात करें तो कार्बन डाइऑक्साइड ऑक्सीजन नाइट्रोजन  और आर्गन गैस मौजूद है|

 मंगल ग्रह पर गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी के तुलना में इतना कम है कि अगर आप जंप लेते हैं तो पृथ्वी के ऊंचाई का तिगुना हासिल कर सकते हैं जैसे कि अगर आपने 3 फीट  जंप पृथ्वी पर लिया तो वहां पर आप 9 फीट की जंप ले सकते हैं|

पृथ्वी से मंगल की दूरी तय करने में लगभग ढाई साल का समय लगता है नासा द्वारा दिया गया फैक्ट है| 

मंगल ग्रह पर किए गए मिशन की सफलता की दर बहुत ही ज्यादा है इसकी सफलता की दर लगभग 66 परसेंट के आसपास है| 

 1606 में गैलीलियो गैलीलिी दूरबीन के माध्यम से मंगल ग्रह का पता लगाया था| 

मंगल ग्रह के दोनों ध्रुवों पर बर्फ पाई जाती है। वहां पानी और कार्बन डाइऑक्साइड की बर्फ की परत दिखाई देती है। मार्स एक्सप्रेस नाम के कृत्रिम उपग्रह ने मंगल ग्रह की कक्षा में चक्कर काटते हुए यह जानकारी दी थी।

पृथ्वी से नजदीक कौन है प्रकार और मानव जीवन के संभावनाएं होने के कारण मंगल ग्रह पर बहुत ज्यादा मिशन किया जा रहा है जिससे आने वाले समय में मानव जाति को वहां बचाया जा सके या फिर एक विकल्प मानव जाति के पास हमेशा बना रहे ताकि अगर कोई भी दिक्कत या परेशानी आती है तो इस प्लेनेट पर से शिफ्ट किया जा सके| 

final words-mars in hindi

mars in hindi : दोस्तों इस पोस्ट में हमने mars के बारे में कुछ interesting facts जाना | आशा करते है आपको पसंद आया होगा| इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करे|

2 Replies to “mars in hindi|mars planet in hindi|mars information in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *