Flowers Name In Hindi and English | फूलों के नाम हिंदी में

बच्चों आज हम आपको फूलों के नाम और फूलों की प्रजातियां और इसके अलावा फूलों के बारे में विस्तार से जानेंगे। आप फूलों के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते है तभी इस इस लेख पर आए है।  फुल देखने में बहुत खूबसूरत होते है। भारत में लगभग फूलों की 50,000 से अधीक जाती है। फूलो का उपयोग भारत के लोग आम तौर पर पूजा करने के लिए और डेकोरेशन के लिए किया जाता है। आज हम इस आर्टिकल की सहायता से आपको फूलों के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। तो चलिए जानते है फूलो के बारे में।

List of all Flowers Name In Hindi

Flowers Name in HindiFlowers ImageFlowers Name in English
गुलाबRoseRose
पीला कनेरYellow OleanderYellow Oleander
चंद्रमल्लिकाChandramallikaChandramallika
सदाबहारPeriwinklePeriwinkle
नीलकमलBlue Water LilyBlue Water Lily
गुले अशर्फ़ीPot MarigoldPot Marigold
कुंद पुष्पStar JasmineStar Jasmine
रात की रानीNight Blooming JasmineNight Blooming Jasmine
मोगराJasminum SambacJasminum Sambac
चांदनी फूलCrape JasmineCrape Jasmine
घृत कुमारीAloe Vera FlowerAloe Vera Flower
बबुने का फुलChamomileChamomile
गुलमोहरDelonix RegiaDelonix Regia
द्रौपदी मालाFoxtail OrchidFoxtail Orchid
असोनियाBluestar FlowerBluestar Flower
बसन्ती गुलाबPrimrosePrimrose
पारस पीपलIndian TulipIndian Tulip
नीम चमेलीMillingtonia HortensisMillingtonia Hortensis
ऑर्किडOrchidOrchid
नील फूलIndigo FlowerIndigo Flower
बकाइनLilacLilac
जरुलQueen Crape MyrtleQueen Crape Myrtle
ब्रह्मकमलBrahma KamalBrahma Kamal
बिचताBurr MallowBurr Mallow
मुखजलीBurmann’s SundewBurmann’s Sundew
रुग्मिनीIxora CoccineaIxora Coccinea
रजनीगन्धाMexican TuberoseMexican Tuberose
राईमुनियाCommon LantanaCommon Lantana
रोहेड़ाRohiraRohira
सोन चम्पाGolden FrangipaniGolden Frangipani
नारंगी बाघ लिलीOrange Tiger LilyOrange Tiger Lily
रक्त लिलीBlood LilyBlood Lily
लिलिAsiatic LilyAsiatic Lily
रनंगक्यलस फूलRanunculus FlowerRanunculus Flower
हाइपेरिकम फूलHypericum flowerHypericum flower
कालंबिन फूलColumbine FlowerColumbine Flower
मिराबिलिस जालपाMirabilis JalapaMirabilis Jalapa
रत्नज्योति फूलAnemone FlowerAnemone Flower
प्लमेरियाPlumeriaPlumeria
नीला फूलbluebell flowerbluebell flower
कमलLotusLotus
चमेलीJasmineJasmine
सूरजमुखीSunflowerSunflower
गुलबहारDaisyDaisy
कन्द पुष्पIndian TulipTulip
चम्पाMagnoliaMagnolia
लैवेंडरLavenderLavender
गुलैन्चीWhite FrangipaniWhite Frangipani
गुड़हल का फूलHibiscusHibiscus
गुलेतूरा फूलPeacock FlowerPeacock Flower
गुलबहार का फूलDaisyDaisy
काली हल्दीBlack TurmericBlack Turmeric
सत्यानाशीMexican Prickly PoppyMexican Prickly Poppy
सन्नीShowy RattlepodShowy Rattlepod
सर्वज्जयCanna LilyCanna Lily
सावनीCommon Crape MyrtleCommon Crape Myrtle
सिरोय कुमुदिनीSiroi LilySiroi Lily
सीता अशोकAshok FlowerAshok Flower
खसखसPoppy FlowerPoppy Flower
नागदमनीGrand Crinum LilyGrand Crinum Lily
नागफनीPrickly PearPrickly Pear
मधु मालतीCreeperCreeper
गुलखैराHollyhockHollyhock
डेहलियाDahliaDahlia
आर्किड फूलLady’s slipper orchidLady’s slipper orchid
प्रातः श्रीBlue Morning GloryBlue Morning Glory
पॉटोटी ब्लू मॉर्निंग ग्लोरीPicotee Blue Morning GloryPicotee Blue Morning Glory
तरवड़Tanner’s CassiaTanner’s Cassia
बूगनबेलBougainvilleaBougainvillea
बचनागGlory LilyGlory Lily
गुल मेहँदीBalsamBalsam
पटसनFlaxFlax
अपराजिताButterfly PeaButterfly Pea
अबोलीCrossandraCrossandra
अमलतासGolden ShowerGolden Shower
गेंदे का फूलYellow MarigoldYellow Marigold
माधवी पुष्पHiptageHiptage
कामिनीMurrayaMurraya
नर्गिसNarcissusNarcissus
बनफशा का फूलSweet VioletSweet Violet

10 flowers Name In Hindi

1. गुलाब

Rose

गुलाब को फुल को इंग्लिश में Rose कहते है। गुलाब का फुल बहुत ही सुगंधित होता है। गुलाब की 100से अधीक प्रजातियां है। जिसमें सभी फुल बेहद ही खूबसूरत फूल होते है। गुलाब के फूल लाल, पीले, काले, सफेद, गुलाबी जैसे तरह तरह के गुलाब होते है। गुलाब के फूल देखने में बहुत ही आकर्षक होते है। गुलाब के फूलों की खुशबू बहुत ही मोहित करने वाली होती है। गुलाब के फूलों का उपयोग पूजा करने में फुल्हार में और डेकोरेशन करने में गुलाब का सबसे ज्यादा उपयोग होता है।

गुलाब के फूल का उपयोग स्वथ्य को अच्छा रखने के लिए भी किया जाता है। गुलाब के फूल को घर में रखने से मन को शांति मिलती है। गुलाब के 5 फूल को तकिए के नीचे रखने से स्वास्थ्य में सुधार होगा। कोइ लोग अपने आसपास सकारात्मक वातावरण रखने के लिए भी गुलाब लगाते है। 

2. कमल

Lotus

कमल के फूल प्राचीन काल से ही धार्मिक रुप से भी जानें जाते है। कमल घर के अंगने में नही बनाया जाता है। कमल का फूल दलदल वाले तालाब में ही ही खिलाता है। कमल के फूल भी देखने बेहद खूबसूरत होते है। कमल के फूल की 2 प्रजातियां है नेलुम्बो न्यूसीफेरा और नेलुम्बो लुटिया आपको जो कमल देखने को मिलते है। वो इन्ही दो प्रजातियों में से एक होते है। कमल के पुष्प में 8 जितनी पंखुड़ियां होती है। कमल के फूल को शांति और संस्कृति का प्रतीक माना जाता है। 

कमल के फूल का उपयोग औषधि के लिए भी किया जाता है। जिसमें कमल को पंखुड़ियों का, कमल के पन्नो का, कमल के मूल का इन सभी का उपयोग औषधि के रुप में किया जाता है।

3. चमेली 

Jasmine

चमेली का फुल देखने में सफेद रंग के होते है। चमेली की पुरे विश्व में 200 से भी अधिक जातिया पाई जाती है। चमेली के फुल हिमालय के पहाड़ो में सबसे पहले पाए जाते थे। चमेली की खेती भारत और कोई पश्चिमी देशों में भी की जाती है। चमेली के फुल की खुशाबुत बहुत ही मनमोहक होती है। चमेली के फुल की सबसे अधीक खुशबू रात के समय होती है। चमेली की कोइ प्रजातियां होती है। उसमें से तेल भी बनाया जाता है। 

चमेली के फूलों का सबसे ज्यादा उपयोग पूजा करने के लिए, महिलाओं का गजरा बनाने के लिए और औषधि बनाने के लिए भी चमेली का उपयोग होता है। चमेली के फुल की चाय पीने से मस्तिष्क में शांति मिलती है और अच्छी नींद आती है।

4. सूरजमुखी 

Sunflower

सूरजमुखी का फुल देखने में बहुत ही आकर्षित होता है। सूरजमुखी के फुल सुगंधरहित है। सूरजमुखी फुल की खासियत यह है की उसका पूरा फुल सूरज की और ही रहता है। इसी वजह से इसे सूरजमुखी कहा जाता है। सूरजमुखी की खेती होती है। सूरजमुखी के फूल की भारत, अमेरिका, रशिया, चीन जैसे देशों में खेती की जाती है। सूरजमुखी के फूलों में जो बी होते है उनसे तेल बनाया जाता है। सूरजमुखी का तेल बहुत ही उपयोगी होता है। सूरजमुखी के पुष्प का उपयोग औषधी के रुप में भी किया जाता है। सूरजमुखी के फुल में बी1, बी3, बी6, मैग्निशियम, फॉस्फोरस, प्रोटीन जैसे प्रोटीन पाए जाते है।

5. चंपा 

चंपा का फुल का रंग सफेद और पीला होता है। चंपा का फुल के दो प्रकार होते है। एक सादा चंपा और एक कटिहलिया चंपा। इन दोनों चंपा की सुगंध बहुत ही अच्छी आती है। चंपा के फुल का उपयोग बहुत सी जगह होता है लेकिन खास करके इसके फुल का उपयोग गुलदस्ता बनाने में किया जाता है। चंपा का फुल का उपयोग जड़ी बूटी के लिए भी किया जाता है। चंपा के फुल से सिरदर्द, कान दर्द, आंख की बीमारियों में सबसे अधिक फायदा होता है।

6. मोगरा 

Jasminum Sambac

मोगरा का फुल सफेद रंग का होता है। देखने में मोगरा का फुल छोटा होता है। लेकिन इसके बहुत सारे फायदे होते है। मोगरा का फुल दक्षिण और पूर्व एशिया में सबसे ज्यादा पाया जाता है। मोगरा का फुल चमेली की ही एक जाति है। भारत में मोगरा का फुल लोग अपने बाग या घर के कुंडा में भी लगाते है। मोगरा के फुल की सुंगध इतनी मनमोहक होती है की मोगरा का फुल के आसपास सकारात्मक शक्ति रहती है। मोगरा का फुल का उपयोग महिलाए बालो के गजरे में भी करती है। मोगरा का फुल एक तरह का कुदरती डिओड्रेंट है। मोगरा का दूसरा नाम मालती और मल्लिका है। 

कोई लोग मोगरा का फुल का उपयोग अपनी त्वचा और बालों को अच्छा रखने के लिए भी करते है।

7. सदाबहार 

Periwinkle

सदाबहार का फुल भारत में घर घर देखने को मिलेगा। इसे आप कही भी आसानी से उगा सकते है। सदाबहार का फुल महीने के बारे मास आते है। सदाबहार के फुल भारत, श्रीलंका और पश्चिमी देशों में सबसे ज्यादा पाए जाते है। सदाबहार के छोटे छोटे फुल आते है लेकिन देखने में बहुत ही अच्छे दिखते है। सदाबहार के फुल मुख्यों तीन रंग में पाए जाते है जिसमें सफेद, गुलाबी, बैंगनी जैसे है। सदाबहार के पौधे से डायाबीटीस जैसे रोगों में भी प्रभावी साबित हुआ है।

8. लिली 

Blue Water Lily

लिली का फुल बहुत ही सुंगधी होता है। लिली के पुष्प की 100 से अधीक प्रजातियां है। जिसमें सफेद, लाल, पिली रंग की लिली अधीक मात्रा में देखने को मिलती है। लिली के फुल देखने में बहुत ही आकर्षक होते है। लिली का उपयोग सभी देश के नागरिक करते है। लिली का मुख्य उपयोग सजावट के लिए ही किया जाता है। भारत में शादी जैसे मौकों पर महिलाए लिली का उपयोग गजरे में करती है।

9. नरगिस 

नरगिस के फुल पीले रंग के होते है। नरगिस के फुल वसंत ऋतु में खिलते है। नरगिस का फुल बहुत ही अधीक मधुर सुगंध वाला पुष्प होता है। नरगिस के फूलों में 6 पंखुड़ियां होती है। नरगिस का फुल भारत में बाग बगीचे में भी पाया जाता है। नरगिस का फुल 6 से 7 इंच का होता है।

10. गेंदा 

Yellow Marigold

गेंदा के फुल की दो प्रजातियां पाई जाती है जिसमें अफ्रीकन गेंदा और हजारिया गेंदा होता है। गेंदे का फुल देखने में पीले रंग का होता है। गेंदे के फुल का उपयोग सबसे ज्यादा शादी के समय और पूजा करते समय होता है। गेंदे के पौधो की ऊंचाई  30 सेंटीमीटर से 3 मीटर तक होती है। गेंदा के फुल अधीक बारिश के मौसम और शरदी के मौसम में सबसे ज्यादा देखने को मिलते है। 

Conclusion:

बच्चों हमने आपको यहां उपर फूलो के बारे में जानकारी दी। हम आशा करते है की हमने आपकों जो भी जानकारी उपर बताई है वो आपको समझ में आ गई होगी। अगर आपकों उपर बताए फूलो से संबंधित कोई भी सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पुछ सकते हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published.