CGPA full form in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम Cgpa full form in hindi में जानेंगे और इसको कैसे कैलकुलेट करते हैं या निकालते हैं और भी रोचक जानकारियां इससे जुड़ी हुई हम जानेंगे ।

CGPA full form in Hindi :

Cgpa की full form हिंदी में  “औसत ग्रेड बिंदु ” होती है।

CGPA full form in English:

अगर आप cgpa कि full form अंग्रेजी में जानना चाहते हैं तो उसकी फुल फॉर्म Cumulative Grade Point Average होती है।

Cgpa full form

What is Cgpa ? क्या होता है cgpa ?

अब जबकि आप cgpa की फुल फॉर्म जान चुके हैं आपके मन में या भी विचार होगा की इसका मतलब क्या होता है और यहां कहां काम आता है तो मैं आपको बताता हूं।

Cgpa का आसान भाषा में मतलब यह होता है कि प्रतिशत की नंबरों को किसी ग्रेड में लिखना।

यह एक प्रकार से ग्रेडिंग सिस्टम मार्क्स के लिए होता है।

Also Read: Rto full form in hindi

Also Read: OMG! world’s longest GIF and gif full form

Also Read: kyc full form|kyc meaning in hindi

इसका इस्तेमाल कुछ सालों पहले ही ज्यादा शुरू हुआ है। 

स्कूल कॉलेज मैं बच्चों की परफॉर्मेंस और नंबरों को जोड़कर अब परसेंट में नहीं बल्कि ग्रेड में लिखा जाता है।

जैसे कि: A,B,C,D….

या सिर्फ एक प्रकार का एवरेज होता है। प्रतिशत की तरह इसमें नंबरों को पूर्ण तरीके से सही या पूर्णता वही नहीं होते जो दिखाई देता है।

यह एक एवरेज ग्रेड प्वाइंट होता है।

बहुत सारे देशों में भी यह मौजूद है भारत में प्रतिशत में नंबर दिए जाते थे पहले फिर इसके बाद यह सिस्टम लागू किया।

अब तो ज्यादातर कॉलेज और स्कूल इसी को फॉलो करते है

कैसे निकालें cgpa? How is calculated Cgpa ?

Cgpa को कैलकुलेट करने का सबसे आसान तरीका यह है कि जितना भी सीजीपीए आपका हो उसको 9.5 से गुडा कर दे।

जैसे :

एक उदाहरण से हम आपको यह समझाने की कोशिश करते हैं मान लीजिए आप को 8.2 cgpa मिला है किसी exam में।

अब आपको यह प्रतिशत में निकालना है तो सिर्फ आप इस 8.2 को 9.5 से गुड़ा कर दे।

           8.5*9.5=___ %

बस इसी प्रकार किसी भी एग्जाम का या फिर किसी भी सब्जेक्ट का आप प्रतिशत निकाल सकते हैं अगर आप को प्रतिशत में ही नंबर देखने हैं।

मैं आपको फिर से याद दिला दूं कि यह सिर्फ एक एवरेज निकलता है इससे बिल्कुल ठीक ठीक नंबरों का अनुमान आप कभी नहीं लगा सकते।

Grade points Table (ग्रेड पॉइंट्स टेबल)

90% to 100%   

O or A+ 

Outstanding

70% to 89%   

A   

First 

50% to 69%   

B+   

Second 

40% to 49%   

B   

Pass 

Below 39   

F   

Fail

यह प्रतिशत का और cgpa का एक टेबल है ठीक इसी प्रकार आपको ग्रेड दिए जाते हैं इससे यह पता चलता है कि कौन सा बच्चा कितने नंबर पाया होगा।

क्यों किया गया ग्रेड सिस्टम ?

ग्रेडिंग सिस्टम करने के कुछ फायदे भी हैं जैसे कि आप किसी के भी नंबर ठीक उतने नहीं पता कर सकते जिससे कि बच्चे ऊपर कम प्रेशर आता है। 

अगर आपके नंबर किसी से थोड़े कम या फिर ज़्यादा आए है तो आप उनके साथ ही खड़े किए जाते।

इससे एक दूसरे में दुर भाव नहीं पैदा होता है और आप बराबर मेहनत कर सकते हैं।

इससे आप न सिर्फ सब्जेक्ट के नंबर बल्कि हर एक छोटी से छोटी एक्टिविटी के ग्रेड दे सकते हैं।

  • खेलने में ग्रेड
  • लिखने में ग्रेड
  • बोलने में
  • सोचने में
  • समझाने में

इसी प्रकार बच्चों को छोटी सी छोटी चीजों के लिए ग्रेड दे सकते हैं जिससे कि वह प्रेरित होंगी नए कार्य करने के लिए।

खराब cgpa के बारे में ?

जिस भी चीज की अच्छी चीज होगी उसकी खराब भी होगी इसमें भी कुछ खामियां हो सकती है जैसे कि।

अगर आप किसी की बिल्कुल सही नंबर जाना चाहे तो वह आप बिल्कुल नहीं कर सकते।

कभी-कभी बच्चे थोड़ा अपनी पढ़ाई में छूट भी दे देते हैं क्योंकि उन्हें पता होता है किया सिर्फ ग्रेड में नंबर आएंगे तो पता ही नहीं चलेगा।

या सिर्फ छोटी स्कूलों में नहीं बल्कि कॉलेज और यूनिवर्सिटी में भी ग्रेडिंग सिस्टम चलता है अब कहीं भी कोई परसेंट में या फिर प्रतिशत में नंबर नहीं देता है।

पहले कुछ साल तक या फिर जितने भी पुराने लोग हैं उन सभी को प्रतिशत में ही नंबर दिए जाते थे आप किसी की भी मार्कशीट उठाकर देख लीजिए उन सभी के में आपको नंबरों की लिस्ट प्रतिशत में ही दिखेगी।

और उन सभी के नंबर भी आपको दिखेंगे हर एक सब्जेक्ट का नंबर आपको दिखेगा।

परंतु अभी ग्रेड सिस्टम में आप किसी के भी नंबर नहीं जान सकते आप सिर्फ अनुमान लगा सकते हैं कि इतने से इतना हो सकता है।

Conclusion :

आज हमने Cgpa full form  और cgpa कैसे निकाले और फिर इसके बाद इसके बारे में थोड़ा सा जाना।

अगर आपके पास कुछ और जानकारी है तो कमेंट बॉक्स में हमें जरूर शेयर करें हम आपकी बातों को भी इसमें जुड़ेंगे।

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी हुई सारी जानकारी Cgpa full form समझ में आई होगी और अच्छी भी लगी होगी। हमारी पूरी कोशिश है कि हम आपको अच्छे से अच्छा ज्ञान दे सके जितना भी हम कर सकते हैं।

अगर आपको Social networking sites and हमारे Social Media जैसे facebook , pinterest , linkedin , quora और HindiVidyalaya के साथ जुड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *