Bharat ka shiksha mantri kaun hai in 2021

नमस्कार दोस्तों आज हम यहां पर यह जानेंगे कि bharat ka shiksha mantri kaun hai और इससे जुड़ी हुई कुछ बातें और यह भी साथ में कि पुराने कौन-कौन से शिक्षा मंत्री (shiksha mantri) रहे हैं।

अंग्रेजी में शिक्षा मंत्री ?

शिक्षा मंत्री को अंग्रेजी में एजुकेशन मिनिस्टर (Education Minister) भी कहा जाता है या इसका अंग्रेजी में अनुवाद है। 

Bharat ka shiksha mantri kaun hai ?

हमारे देश के इस समय की 2021 में शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक – Ramesh Pokhriyal ‘Nishank’ है।

आपको यह भी बताते हुए चलें की शिक्षा मंत्री पूरे देश का होता है और हर एक प्रदेश का अलग शिक्षा मंत्री होता है। क्योंकि हमारा देश भारत बहुत ही बड़ा देश है और इसकी जनसंख्या में बहुत ज्यादा है इसी वजह से बहुत सारे मंत्री बनाए जाते हैं हर एक विभाग के लिए।

कई वर्षों के बाद इस बार हमारा नया शिक्षा नीति भी आई है जोकि कई वर्षों के बाद इसमें बदलाव हुए हैं। 

शिक्षा मंत्री के पद को पहले एचआरडी मिनिस्टर के नाम से था परंतु इस बार इसे बदलकर एजुकेशन मिनिस्टर कर दिया गया है।

bharat ka shiksha mantri kaun hai

Government Education Website :

हर एक देश की एजुकेशन मिनिस्ट्री या फिर शिक्षा के लिए अलग से वेबसाइट होती है जिस पर सभी जानकारियां उपलब्ध कराई जाती है हमारे देश भारत की वेबसाइट या है नीचे क्लिक करके आप देख सकते है।

Website

कब बनी थी एजुकेशन मिनिस्ट्री ?

अब यह भी जानना चाहती होंगी की हमारी एजुकेशन मिनिस्ट्री कब बनी थी तो मैं आपको बता दूं या हमारे देश की आजादी के समय ही बनाई गई थी। 

15 August 1947 को यह बनाई गई थी।

Also Read: गॉड ब्लेस्स यू का मतलब | god bless you in hindi matlab kya hai

Also Read: 70 Google services list|google ka malik kaun hai

Previous bharat ka shiksha mantri kaun hai (पुरानी भारत के शिक्षा मंत्री सभी) :

अब हम यहां पर भारत के पुराने शिक्षा मंत्री के बारे में देखेंगे उनका कार्यकाल जो कि भारत की आजादी के समय से आज तक रहे हैं। 

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद:

सबसे पहले शिक्षा मंत्री इनका नाम आप सभी लोग जानते होंगे क्योंकि भारत की आजादी में इनका बहुत बड़ा हाथ है इनका नाम है मौलाना अबुल कलाम आज़ाद    । इनका कार्यकाल 15 अगस्त 1947 से 22 जनवरी 1958 तक था।

डॉ. के. एल. श्रीमली (राज्य मंत्री): 

दूसरे शिक्षा मंत्री KL shrimali और इनका कार्यकाल 22 जनवरी 1958 से लेकर 31 अगस्त 1963 तक था।

हुमायूं कबीर :

अगले शिक्षा मंत्री हुमायूं कबीर और इनका कार्यकाल 01 सितम्बर 1963 से लेकर 21 नवम्बर 1963 तक था।

एम. सी. सी. छागला :

अब इसके बार के shikhsa mantri एम. सी. सी. छागला और उनका कार्यकाल 21 नवम्बर 1963 से लेकर 13 नवम्बर 1966 तक था।

फखरुद्दीन अली अहमद : 

अगले शिक्षा मंत्री का नाम फखरुद्दीन अली अहमद और इनका कार्यकाल 14 नवम्बर 1966 से लेकर 13 मार्च 1967 था।

डॉ. त्रिगुण सेन:

अगले शिक्षा मंत्री का नाम त्रिगुण सेन और इनका काम 16 मार्च 1967    से लेकर 14 फरवरी 1969 तक चला था।

डा. वी. के आर. वी. राव: 

अगले शिक्षा मंत्री का नाम  वी. के आर. वी. राव और इनका काम 14 फरवरी 1969 से लेकर मार्च 1971 तक था।

सिद्धार्थ शंकर रे:

अगले शिक्षा मंत्री का नाम सिद्धार्थ और इनका कार्यकाल 18 मार्च 1975 से लेकर 20 मार्च 1972 तक था।

प्रो. एस. नूरुल हसन (राज्य मंत्री) :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम नूरुल हसन और इनका कार्यकाल 24 मार्च 1972 से लेकर 24 मार्च 1977 तक था।

प्रो. प्रताप चंद्र चंदर :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम प्रताप चंद्र चंदर और इनका कार्यकाल 26 मार्च 1977    से 28 जुलाई 1979 तक था।

डॉ. करन सिंह :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम करन सिंह और कार्यकाल 30 जुलाई 1979    से 14 जनवरी 1980 तक था।

बी. शंकरंद :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम शंकरंदऔर काम  जनवरी 1980 से 17 अक्टूबर 1980 तक।

एस.बी. चव्हाण :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम बी. चव्हाण 17 अक्टूबर 1980 से 08 अगस्त 1981 तक।

शीला कौल (राज्य मंत्री): 

अगले शिक्षा मंत्री का नाम शीला कौल 10 अगस्त 1981 से 31 दिसम्बर 1984 तक।

के.सी. पंत :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम के.सी. पंत 31 दिसम्बर 1984 से 25 सितम्बर 1985 तक।

पी. वी. नरसिंह राव (प्रधानमंत्री) :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम पी. वी. नरसिंह राव 25 सितम्बर 1985 से लेकर 25 जून 1988 तक।

पी. वी. नरसिंह राव (प्रधानमंत्री) :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम पी. वी. नरसिंह राव और कार्यकाल 25 दिसम्बर 1994 से 09 फरवरी 1995 तक था।

पी. वी. नरसिंह राव (प्रधानमंत्री) :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम फिर से पी. वी. नरसिंह राव और काम 17 जनवरी 1996 से 16 मई 1996 तक।

पी. शिव शंकर :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम पी. शिव शंकर और कार्यकाल 25 जून 1988 से 02 दिसम्बर 1989 तक था।

वी.पी. सिंह (प्रधानमंत्री) :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम वी.पी. सिंह 02 दिसम्बर 1989 से 10 नवम्बर 1990 तक था ।

राजमंगल :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम राजमंगल और कार्यकाल 21 नवम्बर 1990 से 21 जून 1991 तक था।

अर्जुन सिंह :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम अर्जुन सिंह और काम 23 जून 1991 से लेकर 24 दिसम्बर 1994 तक था।

अर्जुन सिंह: 

अगले शिक्षा मंत्री का नाम अर्जुन सिंह और काम 22 मई 2004 से 22 मई 2009 तक था।

माधवराव सिंधिया    :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम माधवराव सिंधिया और कार्यकाल 10 फरवरी 1995 से लेकर 17 जनवरी 1996 तक था।

अटल बिहारी वाजपेयी (प्रधानमंत्री) :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम अटल बिहारी वाजपेयी और कार्यकाल 16 मई 1996 से लेकर 01 जून 1996 तक था।

एस. आर. बोम्मई :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम एस. आर. बोम्मई और काम 05 जून 1996 से 19 मार्च 1998 तक था।

डॉ. मुरली मनोहर जोशी:

अगले शिक्षा मंत्री का नाम मुरली मनोहर जोशी और कार्यकाल 19 मार्च 1998 से लेकर 21 मई 2004 तक था।

श्री कपिल सिब्बल    :

अगले शिक्षा मंत्री कपिल सिब्बल और इनका काम 22 मई 2009 से लेकर 28 अक्टूबर 2012 तक था।

एम.एम. पल्लम राजू :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम पल्लम राजू और उनका काम अक्टूबर 2012    से लेकर 25 मई 2014 तक था।

स्मृति ईरानी :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम स्मृति ईरानी और  इनका कार्यकाल 26 मई 2014 से लेकर 05 जुलाई 2016 तक था।

प्रकाश जावडेकर :

अगले शिक्षा मंत्री का नाम प्रकाश जावडेकर से लेकर 05 जुलाई 2016 से लेकर 30 मई 2019 तक था।

रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ :

इस समय के शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल है और इनका कार्यकाल मई 2019 से लेकर अब तक है।

Conclusion: Sabhi shiksha mantri aur bharat ka shiksha mantri kaun hai abhi

हमने इस पूरी पोस्ट में यह जाना कि अभी तक सारे शिक्षा मंत्रियों के नाम क्या है और इस वक्त bharat ka shiksha mantri kaun hai यह भी जाना।

उम्मीद है आपको हमारी दी हुई जानकारी अच्छी लगी होगी अगर इस में कोई भी त्रुटि है तो आप हमें बताएं हम उसमें सुधार करेंगे।

अगर आपको Social networking sites and हमारे Social Media जैसे facebook , pinterest , linkedin , quora और HindiVidyalaya के साथ जुड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *