Skip to toolbar

ATM ka full form kya hai ?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ATM ka full form kya hai or Atm full form:

नमस्कार दोस्तों उम्मीद है आप लोग बहुत अच्छे होंगे और आज इस टॉपिक ATM ka full form kya hai or Atm full form के बारे में जानने के लिए बहुत उत्सुक होंगे।

हम सभी जब भी कोई काम करते हैं तो उसका मकसद कहीं ना कहीं रुपए, पैसे से जुड़ा होता है

और पैसा कहां से आता है जब आप कोई काम करते हैं और उसको रखने के लिए  आपके पास बैंक होता है जहां अपना सारा पैसा रख सकते हैं

 जब आपको पैसा निकालना होता है तो उसके लिए आपके पास 3 तरीके होते हैं:

  •  बैंक से डायरेक्ट निकाल दें ( direct bank)
  •  ऑनलाइन ट्रांसफर कर दो (Online)
  •  एटीएम का प्रयोग करें (atm)
atm-ka-full-form
atm ka full form

एटीएम की फुल फॉर्म

(atm ka full form) या पूरा नाम:

एटीएम का पूरा नाम “ऑटोमेटेड  टेलर  मशीन”  (Automated Teller Machine) होता है

A – AUTOMATED

T – TELLER

M – MACHINE

एटीएम का फुल फॉर्म दूसरे विभागों में और भी बहुत कुछ होता है अन्य प्रकार के, परंतु आज हम को नहीं देखेंगे आज से इसी के बारे में और भी अधिक जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करेंगे

Study more about ATM ka full form kya hai or Atm full form…

atm-ka-full-form
atm ka full form

एटीएम का इतिहास:

पहला atm 1967 में लंदन में बार्कलेज बैंक की शाखा में था 

1960 के दशक के मध्य में जापान में एक नकद निकालने की मशीन के रिकॉर्ड भी हैं। 

अंतरबैंक लेनदेन जिसने एक ग्राहक को 1970 में दूसरे बैंक के atm में एक बैंक के कार्ड का उपयोग करने की अनुमति दी

क्या है एटीएम:

 एटीएम एक इलेक्ट्रो मैकेनिकल मशीन (Electro Mechanical Machine) है |

इसका ज्यादातर प्रयोग पैसों को निकालने के लिए किया जाता है

 अगर आपको तुरंत पैसों की जरूरत हो तो आप हमेशा एटीएम का ही प्रयोग करते हैं |अच्छी बात यह है कि पैसे निकालने के लिए इसमें आपको किसी की जरूरत नहीं होती है

 आपको कोई भी भी फॉर्म बैंक कितना नहीं भरना होता है, कोई भी ड्राफ्ट नहीं बना होता है, किसी से पूछना नहीं होता है, आप बिना किसी की इजाजत के आप अपना पैसा तुरंत के तुरंत कहीं से भी पूरे देश में निकाल सकते हैं

Full Best on Computer and Jobs

Debate Job vs Business

पैसा निकालने के लिए एटीएम मे जरूरी सामान:

 हालांकि बैंक की तरह इसमें ड्राफ्ट नहीं बनना पड़ता है ना ही किसी की इजाजत लेनी पड़ती है आपका अपना पैसा निकालने के लिए परंतु कुछ चीजों की इसमें जरूरत होती है जो कि आपके पास होनी चाहिए तभी आप अपना पैसा निकाल सकते हैं|

  • एटीएम कार्ड (ATM CARD)
  • एटीएम कार्ड का पिन ( ATM CARD PIN – 4 digits)
  • वेरिफिकेशन के लिए मोबाइल पर ओटीपी (otp)  सिर्फ कुछ जगह यह नया है (New )
atm-ka-full-form-kya-hai
atm ka full form kya hai

क्या किसी भी एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं:

 जी हां यह  प्रश्न बहुत लोगों की मन में होता है,  कि वह दूसरे बैंक के एटीएम  से पैसे निकाल सकते हैं या नहीं|

 एकदम साफ बता देना चाहता हूं कि हर एक बैंक का अपना खुद का एटीएम होता है, परंतु इसका मतलब यह नहीं है कि आप वहां से पैसे निकाल सकते हैं|

 यह बैंक की तरह नहीं होता है कि आपका अकाउंट बैंक में है वही आप पैसे निकाल सकते हैं सबसे अच्छी बात ही टीम की यही होती है कि आप किसी भी बैंक का आपका खाता हो पर आप पैसे निकाल सकते हैं|

 5 बार 1 महीने में पैसे निकालने के बाद या किसी दूसरे एटीएम के प्रयोग में हो सकता है कुछ बात आपका पैसा ज्यादा कटे मतलब 1 महीने में हो सकता कुछ आपका ज्यादा पैसा कट सकता है परंतु आप इमरजेंसी में या आपको जरूरत है तो आप पैसा कहीं से भी किसी भी एटीएम से कभी भी निकाल सकते हैं उसकी रोकथाम अभी तक नहीं है

Study more about ATM ka full form kya hai or Atm full form…

कार्यक्षमता (Functionality):

आप पैसा निकाल सकते हैं

अपने अकाउंट की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

अपने बैलेंस का स्टेटमेंट देख सकते हैं(Mini Statement)

पिन कोड बदल सकते हैं

 एटीएम के फायदे :

24 * 7  यह उपलब्ध है 

बैंक कर्मचारियों का काम आसान करता है

राहगीरों  के लिए बहुत उपयोगी

समय की पाबंदी नहीं

 लगभग हर जगह मौजूद

एटीएम के प्रकार (Parts of ATM):

एटीएम के अभी तक दो प्रकार हैं  जो कि शायद सभी को पता होगी:

  • इनपुट (Input)
  • आउटपुट (Output)

इनपुट: 

इसमें आपके कार्ड रीडर और कीपैड दो चीजें आती

कार्ड रीडर से आपका एटीएम मैग्नेटिक स्ट्रिप (atm magneticstrip)  होती है जो कि एटीएम कार्ड पर उसको रीड करता है पड़ता है और इसके बाद उसी पर वह आपको जवाब देता है

 कीपैड का आप सभी प्रयोग करते हैं जिससे कि आप पिन कोड डालते हैं, कैंसिल करते हैं, क्लियर करते हैं

आउटपुट:

 स्क्रीन  आउट मैं आता है जैसे कि आप मैं आंखों से देख पाते हैं

स्पीकर जैसे कि आप एटीएम में कोई भी ध्वनि साउंड आता है तो उसे सुन पाते हैं

कैश डिस्पेंसर  इससे आप अपना पैसा बाहर निकालते हैं जिसके लिए  आप एटीएम  जाते हैं

डिपॉजिट स्लॉट इसे आप अपना कार्ड उस एटीएम मशीन के अंदर डालते हैं

प्रिंटर इससे आप अपने निकाले हुए पैसे की व्यवस्था जानकारी एक कागज पर लिखी हुई मिलती है और वह बाहर आ जाती है

स्क्रीन के बटन यह भी आपके पैसे निकालने के समय काम आते हैं,  जब आप पैसा निकाल रहे होते हैं उस समय कुछ जरूरत पड़ती है इन बर्तनों की जो कि आपको समय-समय पर दिखाई देते हैं

कीपैड और स्क्रीन बटन दोनों अलग चीजें हैं दोनों का मतलब भी अलग अलग ही है

For more you can also see Wiki

अंतिम शब्द:

 उम्मीद है हमारे द्वारा दी हुई जानकारी ATM ka full form kya hai or Atm full form आपको बहुत पसंद आ रही हो क्योंकि हमारी कोशिश यही रहती है कि आपको जो भी जानकारी दी जाए वह हमेशा ही एक अच्छी सही और स्पष्ट जानकारी हो|

 साथ में हमारी कोशिशें भी रहती है कि जो टॉपिक हो उससे आसपास की जो भी चीजें हूं जो भी जानकारी में आपको जरूर दी जाए जिससे कि आप अगर कुछ और पढ़ना चाहते हैं उसके बारे में वह भी जानकारी आपके यहां से ले सके आपको कहीं और भी जाने की जरूरत ना पड़े|

अगर आपको हमारी computer kya hai post badhiya lga तो आप हमारे Social Media जैसे facebook , pinterest , linkedin , quora और HindiVidyalaya के साथ जुड़े रहे।

हिन्दीविद्यालय आपको स्वागत करता है !

धनयवाद !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *