अंतरास्ट्रीय योग दिवस|About antarrashtriya yog divas|international yoga day essay

antarrashtriya yog divas|international yoga day essay : 2014 में 11 दिसंबर को, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में घोषित किया था, इसके बाद प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इसकी शुरुआत की गई थी।

antarrashtriya yog divas in hindi|international yoga day essay

यह साबित होता है कि योग में कई अन्य लोगों के अलावा लचीलेपन में सुधार, कार्डियो और संचार स्वास्थ्य में सुधार, श्वसन में सुधार जैसे शारीरिक लाभ हैं। शारीरिक लाभों के अलावा, योग ध्यान और श्वास की शक्ति द्वारा तनाव को प्रबंधित करने में भी मदद करता है।

antarrashtriya yog divas
antarrashtriya yog divas

जैसा कि आप सभी जानते हैं की हमारा देश ऋषि मुनियों और साधु संतों का देश है आज तो हम अपनी परंपरा को छोड़कर पश्चिमी सभ्यता की ओर बढ़ते जा रहे हैं आदि काल से हमारा देश मुख्य रूप से तीन ही चीजो पर टिका हुआ था आध्यात्म, योग, और आयुर्वेद लेकिन धीरे धीरे हम अपने आप को इस इससे दूर करते गए जिसका बुरा प्रभाव हमारे स्वास्थ्य और समाज के ऊपर भी पड़ने लगाl

Also read : yoga kaise kare in hind

अनेको प्रकार की बीमारी से लोग घिरने लगे लेकिन पिछले लगभग 8-10 सालो से योग के तरफ हमारा झुकाव बढ़ा है इसमें एक बड़ा योगदान इस समय के योग गुरु रामदेव का भी रहा है |

हमारे देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योग को बढ़ावा देते हुए केवल भारत मे ही नही बल्कि पूरे विश्व में योग को बढ़ावा देने के संककल्प के साथ कार्य किया जिसका परिणाम यह रहा की अमेरिका ,रूस,फ़्रांस और ब्रिटेन जैसे देश भी योग में रूचि रखने लगेl

पहला योग दिवस 21 जून 2015 को पुरे विश्व भर में बड़े ही उत्सुकता के साथ धूम धाम से मनाया गया इस दिन करोड़ों लोग अलग अलग जगहों पे बहुतायत संख्या में इसमें भाग लिए और विश्व रिकॉर्ड भी कायम किया योग को करने से मन,मष्तिस्क,और शारीर के सरे अंगों को लाभ मिलता है इसको करे से दिमाग को प्रचुर मात्र में आक्सीजन प्राप्त होता है|

जिससे दिमाग तेज और स्वस्थ होता है योग को करने से शारीर में होने वाली बीमारी दूर होती है इसी लिए शरीर के साथ साथ मानशिक परेशानी भी दूर होती हैl योग शब्द की उत्पति संस्कृत के यूज शब्द से हुई है जिसका मतलब संस्कृत में आत्मा होता है योग हमारे सभ्यता और संस्कृति का अभिन्न अंग हैl

योग दिवस शारीरिक रूप से ही लोगों को स्वस्थ रखने का ही काम नहीं करता बल्कि इससे अध्यात्म भी मजबूत होता है महर्षि पतंजलि इसके जन्मदाता हैं योग के करने वाले सही मार्ग का अनुशरण भी करने में सक्षम होते हैं|

योग करने से शारीर में उर्जा का बेहतरीन संचार होने लगता है योग से ही अध्यात्मिक सिद्धियाँ भी प्राप्त होती है इसके प्रतिदिन के उपयोग से सभी इन्द्रियां भी जागृत होने लगती हैं जिससे मनुष्य के व्यक्तित्व में एक अलग तरह का निखर आता हैl

योग आश्रम में जाकर योग करने वाले बहुत सरे लोग बहुत सरे असाध्य बिमारियों से निजत पाने में लाभ मिलता हैl

कुछ ऐसे योग हैं जो प्रतिदीन सभी को ही करना चाहिए:-

  1. अनुलोम विलोम:– इस योग को करने से दिमाग तेज होता है आक्सीजन दिमाग में ज्यादा जाने से दिमाग मजबूत और तेज होता है अगर किसी को नींद न आ रही हो तो इसको करने से सही नींद आने लगती हैअगर किसी को माइग्रेन है तो उसमे लाभ मिलता है तनाव को कम करता है आँखे स्वस्थ रहेंगी ब्लड प्रेसर में राहत मिलेगा इसके अलावे भी बहुत सरे लाभ होंगे अनुलोम विलोम करने से इसलिए सभी को प्रतिदिन कम से कम 5 मिनट जरुर करना चाहिएl
  2. कपाल भारती प्राणायाम:– कपाल भारती से पेट के सारे एरीय का मसाच हो जाता है क्योकि आपको शारीर के जिस भी हिस्से को मजबूत बनाना है उस हिस्से को व्यायाम और मसाच के जारी मजबूत किया जाता है कपाल भारती भी एक मसाच ही है इससे आंतो को मजबूती प्रदान होता है लीवर और हैl खाया पिया हुआ आसानी से पचता भी है और पेट से जुडी हुई परेशानियों से भी निजत मिलता है गैस अपच दैजेशन का सही न रहना इन सब परेशानियों मुक्ति मिलता है योग गुरु रामदेव की मने तो जिन महिला को संतान उत्पति में परेशानी हो उनको कपाल भारती प्राणायाम जरुर करना चाहिए इसको करने से बहुत ज्यादा लाभ मिलता हैl
  3. योग मुद्रासन:– अव्यस्थित खान पण के चलते पेट और श्री स्वस्थ नहीं रह पता है इसको करने से गैस कब्ज एसिडिटी पाईल्स अपच पेट शुगर  की सारी परेशनी को ख़त्म करने में मदत करता है इसको करने से चेहरे पर निखर आता है एकाग्रता बढती है गर्भवती महिलाएं इस आश्न को न करेंl
  4. सर्वांग आसन:– इस आसन को करने से मोटापा से राहत मिलता है दुर्बलता दूर होता है लम्बाई बढता है थकन दूर होता है थायराइड में लाभ मिलता है शुक्र ग्रंथि को मजबूत करता है ये आसन को करने से स्वास्थ्य में बेहतर होता हैl
  5. वज्रासन:- इस आसन को कभी भी कर सकते है महिला और पुरुस दोनों के लिए ही ये आसन काफी लाभ देने वाला है ज्यादातर ये आसन खाना खाने के बाद ही किया जता है इससे खाना असहनी से पचता है इसको करने से कमर के निचे का भाल बाजरा के समान मजबूत होता है इसी लिए इसका नाम वज्रासन भी रखा गया है महिलायों में होने वाली मासिक गड़बड़ी को भी ठीक करता है इससे गठिया और बवासीर में भी लाभ मिलता हैl
  6. अर्ध हलासन:– आज के दौर में मोटापा एक बहुत बड़ा परेशानी बन चूका है इसको दूर करने के लिए मेरुदंड को मजबूत करने के लिए इस आसन को करना चाहिए इस आसन को करने से मधुमेह थायराइड बच्चो के विकास के लिए मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए ये आसन काफी उपयोगी हैl
  7. चक्रासन:- इस आसन को करने से शारीर के सारे मांसपेशियों में खिचाव आता है जिससे रक्त पुरे शारीर में बेहतर ढंग से प्रवाहित होने लगता है मंश्पेशियाँ लचीली बनती हैं जांघों को मजबूती मिलती है फेफड़ो को विशेस लाभ लाभ पहुंचता है रीढ़ की हड्डी मजबूत बनती है पीठ दर्द इत्यादि में लाभ मिलता हैl

benefits of yoga(antarrashtriya yog divas)

  • यह धीरज, शक्ति और लचीलापन बढ़ाता है|
  • मानसिक धीरज और शारीरिक सहनशक्ति को विस्तारित सांसों के लिए आसन के माध्यम से जांचा जाता है।
  • जब आप प्रतिरोध के लिए अपने खुद के शरीर के वजन का उपयोग करते हैं, तो हाथ और कंधे की ताकत बढ़ जाती है।
  • लैट्स, ट्रैप्स और पीठ की दूसरी मांसपेशियां रीढ़ को पहले से बेहतर सपोर्ट देना शुरू कर देती हैं।
  • एब्डोमिनल और तिरछे को परिष्कृत किया जाता है और कोर मांसपेशियों के निर्माण के माध्यम से टोंड किया जाता है। समय के साथ आसन अपने आप सही होने लगता है।
  • हिप फ्लेक्सर्स खिंचे हुए और मजबूत होते हैं।
  • ग्लूट्स, क्वाड्स, हैमस्ट्रिंग और बछड़ों को मजबूत किया जाता है।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके शरीर में दर्द होता है, या यदि आप अपनी फिटनेस को उच्च स्तर पर ले जाना चाहते हैं, तो पावर योग की मांसपेशियों के निर्माण की क्षमता कुल शरीर पर एक निर्विवाद प्रभाव डालती है।

Conclusion: antarrashtriya yog divas|international yoga day essay

उम्मीद है हमारे द्वारा दी हुई जानकारी antarrashtriya yog divas के बारे में आपको बहुत अच्छी लगी होगी |अगर कुछ और आप सीखना यह जानना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं या फिर हमारे सोशल मीडिया पर आप जुड़ सकते हैं।

antarrashtriya yog divas पोस्ट दोस्तों के साथ जरुर share करे|

अगर आपको Social networking sites and हमारे Social Media जैसे facebook , pinterest , linkedin , quora और HindiVidyalaya के साथ जुड़े रहे।

Thank you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *